आखिए औरंगजेब अपनी ही बहन रौशनआरा को धीमा जहर देकर क्यों मरवाया?

1657-58 ई.(Prachin Bharat Ka itihas) में शाहजहाँ के पुत्रों के बीच उत्तराधिकार के युद्ध में रौशनारा ने औरंगज़ेब का समर्थन किया, जिसके कारण औरंगज़ेब ने इस खूनी संघर्ष को जीत लिया।

SHARE THIS POST :